jat reservation latest news | jat aarakshan news

jat reservation latest news | jat aarakshan news

राजस्थान में भरतपुर-धौलपुर के जाटों को OBC में आरक्षण की मांग को लेकर बहुत दिनों से हो रहा आंदोलन आज हो सकता है उग्र-

jat reservation latest news | jat aarakshan news

राज्य में ये दो ही जिले ऐसे है जहां रियासत काल में जाट राजा हुआ करते थे। राजस्थान में भरतपुर-धौलपुर के जाटों को अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) में आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन अब उग्र होता जा रहा है। जाट समाज के लोगों ने बुधवार को राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 11 पर महापंचायत कर गुरूवार को मथुरा मेगा हाईवे पर महापड़ाव शुरू करने की घोषणा की।

हरियाणा में आरक्षण की मांग कर रहे जाट समाज के बाद अब राजस्थान के भरतपुर और धौलपुर के जाटों ने भी ओबीसी में आरक्षण की मांग को लेकर आज से महापड़ाव डालने का निर्णय किया। जाट नेताओं के मुताबिक आज से मथुरा-भरतपुर हाइवे पर गांव रारह के निकट आंदोलन का बिग़ुल बजा दिया जाएगा।

जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेमसिंह फौजदार ने कहा कि हरियाणा के जाट आंदोलन के दौरान भरतपुर और धौलपुर के जाटों ने भी आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन किया था। उस समय राजस्थान सरकार ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया,इस पर आंदोलन स्थगित कर दिया गया था। लेकिन अब एक वर्ष से अधिक समय हो गया राज्य सरकार अपने वादे को पूरा नहीं कर रही।

जाटों का कहनाहै कि सरकार आंदोलन की भाषा ही समझती है। हम अपने हक के लिए कोई भी कुर्बानी देने को तैयार है। उन्होंने कहा कि गुरूवार से मथुरा मेगाहाइवे पर शुरू होने वाले महापड़ाव के दौरान यदि कोई नुकसान होता है तो उसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। बुधवार को हुई महापंचायत के बाद जाट समाज के लोग अलग-अलग गांवों के लिए निकल गए जहां लोगों को गुरूवार से शुरू होने वाले महापड़ाव के लिए आमंत्रित कर रहे है।

jat reservation latest news | jat aarakshan news

उल्लेखनीय है कि सरकार ने प्रदेश के अन्य क्षेत्रों के जाट समाज को आरक्षण देते समय धौलपुर एवं भरतपुर के जाटों को अन्य जाटों को आरक्षण से वंचित इसलिए रखा था क्योंकि यहां जाट आर्थिक रूप से सम्पन्न माने जाते है। वहीं राज्य में ये दो ही जिले ऐसे है जहां रियासत काल में जाट राजा हुआ करते थे।

इससे पहले बुधवार की शाम को जिला प्रशासन से हुई जाट समाज की वार्ता विफल हो गई। जाटों के एलान को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जाट नेताओं की सड़क व रेल यातायात बंद करने की चेतावनी को देखते हुए RPF की एक कंपनी कोटा से बुलाई गई है।

इससे पहले जाट महापंचायत में निर्णय लिया गया था कि सरकार या तो आरक्षण दे नहीं तो सड़क मार्ग, रेलवे मार्ग सहित बिजली, पानी और सभी जगहों को बंद कर दिया जाएगा।

जाट नेताओं ने आरोप लगाया था कि अगस्त 2015 में हाईकोर्ट ने भरतपुर-धौलपुर के जाटों को ओबीसी आरक्षण से वंचित कर दिया था लेकिन सरकार हर बार समाज को गुमराह करती रही है। इस बार सरकार के साथ किसी भी प्रकार का समझौता नहीं होगा, भरतपुर के जाटों के आंदोलन में पूरे राजस्थान के जाट समाज के साथ साथ हरियाणा, उत्तर प्रदेश के अलावा कई राज्यों के जाट समाज के लोग साथ देंगे।

 

Tags : jat reservation latest news

Leave a Reply