Jaipur hawa mahal history in Hindi

Jaipur hawa mahal history in Hindi 2

जयपुर के हवा महल का इतिहास – Jaipur hawa mahal history in Hindi, Jaipur hawa mahal history, hawa mahal jaipur, hawa mahal, jaipur tourism.

Hawa Mahal is a palace in Jaipur , india… So named because it was essentially a high screen wall built so the women of the royal household could observe street festivals while unseen from the outside.

Story in HINDI  Jaipur hawa mahal history in Hindi

Jaipur hawa mahal history in Hindi 3

हवा महल भारत के जयपुर शहर में स्थित एक महल है। इसका नाम हवा महल इसलिये रखा गया क्योकि महल में महिलाओ के लिये ऊँची दीवारे बनी हुई है ताकि वे आसानी से महल के बाहर हो रहे उत्सवो का अवलोकन कर सके और उन्हें देख सके। यह महल लाल और गुलाबी बलुआ पत्थरो से बना हुआ है। यह महल सिटी पैलेस के किनारे पर ही बना हुआ है।

इसका निर्माण 1799 में महाराजा सवाई प्रताप सिंह ने करवाया था। हिन्दू भगवान कृष्णा के मुकुट के रूप में ही लाल चंद उस्ताद ने इसे डिज़ाइन कीया था। इस पाँच मंजिला ईमारत के बाहर समान आकर के शहद के छत्ते भी लगे हुए है और महल में 953 छोटी खिड़कियां भी है जिन्हें झरोखा कहा जाता है और इन झरोखो को बारीक़ कलाकृतियों से सजाया भी गया है।

उस समय महिलाये चेहरे पर जाली ढककर ही बाहर निकला करती थी और दैनिक जीवन का अवलोकन करती थी। उस समय महिलाओ को चेहरे पर “परदा” ढकना अनिवार्य था। कहा जाता है की इन जालियों की मदद से उन्हें चेहरे को ठंडी हवा भी लगती थी और तपती धुप में भी उनका चेहरा ठंडा रहता था।

पुरे 50 साल बाद 2006 में महल की मरम्मत की गयी, इस समय इस स्मारक का मूल्य तक़रीबन 4568 मिलियन रुपये बताया गया था। वहाँ के कॉर्पोरेट सेक्टर ने इस स्मारक की सुरक्षा का जिम्मा उठाया लेकिन बाद में भारत के यूनिट ट्रस्ट ने यह जिम्मा उठाया। हवा महल के प्रसिद्ध होने के बाद इसके कॉम्पलेक्स को भी विकसित किया गया था। पर्यटको को बहोत सी इतिहासिक चीजे हवा महल में देखने मिलती है।

हवा महल की रोचक बाते –

Jaipur hawa mahal history in Hindi

  • बिना किसी आधार के बना यह महल विश्व का सबसे ऊँचा महल है।
  • हवा के सामने की तरफ कोई प्रवेश द्वार नही है। यदि आपको अंदर जाना है तो आपको पिछले भाग से जाना होंगा।
  • हवा महल में कुल पाँच मंजिले है और आज भी यह महल सफलता से अपनी जगह पर 87 डिग्री के एंगल में खड़ा है।
  • हवा महल “पैलेस ऑफ़ विंड्स” के नाम से भी जाना जाता है।
  • हवा महल में कुल पाँच मंजिले है।
  • हवा महल में कुल 953 खिड़कियाँ है जो महल को ठंडा रखती है।
  • जयपुर के सभी शाही लोग ईस महल का उपयोग गर्मियों में आश्रयस्थल की तरह करते है।
  • हवा महल को लाल चंद उस्ताद ने डिज़ाइन किया था।
  • यह महल विशेषतः जयपुर की शाही महिलाओ के लिये बनवाया गया था।
  • इस महल को बनाने का उद्देश्य शाही महिलाओ को बाज़ार और महल के बाहर हो रहे उत्सवो को दिखाना था।

 

अगर आप और भी ऐसी ही कहानियों के बारे म जानना चाहते है तो यहाँ आइये http://www.awarepedia.com/category/travel-tips/ और पढ़िए ऐसी दिलचस्प कहानियां अपने भारत की |

Story  IN  ENGLISH  Jaipur hawa mahal history in Hindi

Jaipur hawa mahal history in Hindi 2

Hawa Mahal is a palace located in Jaipur city of India. The name of the Hawa Mahal was kept as the high walls were built for women in the palace so that they could easily observe the festival outside the castle and see them. This palace is made of red and pink sandstone. This palace remains on the edge of the City Palace.

It was built in 1799 by Maharaja Sawai Pratap Singh. Lal Chand Ustad, who had designed it as the crown of Hindu God Krishna, was the one who designed it. Outside of this five-storey building, honey beetles of the same size are also set up and there are 953 small windows in the palace, which are called Jharkha and these trees are also decorated with fine artifacts.

At that time, women used to come out of the lattice for a while and used to observe daily life. At that time it was compulsory for women to cover “the curtain” on the face.

It is said that with the help of these nets, they also felt cold air, and their face was cold even in sunny heat. After 50 years, the palace was repaired in 2006, at present the value of this monument was reported to be around Rs.4568 million.

The corporate sector took up the responsibility of protecting this monument but later the Unit Trust of India took up this responsibility. After the famous Hawa Mahal, its complex was also developed. Tourism can be seen in the historic Thane Hawa Mahal. If you want to know more about such stories then come here http://www.awarepedia.com/category/travel-tips/  and read such interesting stories of your India . Interesting facts about Hawa Mahal – . This palace is the tallest palace in the world, without any basis.

  • There is no entrance to the front of the air. If you have to go in, you will have to go from the previous part.

·        There is a total of five stories in the Hawa Mahal and this palace is still standing in the 87-degree angle at its place.

  • Hawa Mahal is also known as “Palace of Winds”.
  • There are a total of five floors in the Hawa Mahal.
  • There are a total of 953 windows in the Hawa Mahal, which keeps the palace cool.
  • All the royal people of Jaipur use the castle as a shelter in summer.
  • Hawa Mahal was designed by Lal Chand Ustad.
  • This palace was built especially for the royal women of Jaipur.
  • The purpose of making this palace was to show the royal women to the festival and the festival outside the palace.

So this is the Jaipur hawa mahal history in Hindi and English, I would like to thank you for your presence and we also hope that you found this article interesting Hope to see you again reading such more useful and interesting articles. Stay connected with Awarepedia.

Comment (1)

  • shivam| September 17, 2017

    Nice blogs found it quiet interesting.Awesome concept of hindi blog

  • %d bloggers like this: